top of page

Ambedkar Saheb Media Group

Public·53 people

छात्र जो कि हॉस्टल में रहते थे -

एक ब्राह्मण

दूसरा क्षत्रिय

तीसरा वैश्य

चौथा शुद्र


1 दिन छात्रों की इच्छा हुई कि - खीर बनाया जाए

सभी ने मिलकर जरूरी सामान का इंतजाम किया


👉 दूध ,चीनी , चावल ...

खीर बनाई गयी।


इंसाफ का तकाजा यह था कि चारों में खीर बराबर - बराबर बांट दी जाती

परंतु


ब्राह्मण छात्र थोड़ा ज्यादा होशियार था उसने कहा कि - खीर बराबर - बराबर नहीं मिलेगी ।

रात को सब सो जाओ , जो सबसे अच्छा सपना देखेगा , सुबह वही खीर वही खाएगा ❗

रात में सब सो गए


सुबह ब्राह्मण छात्र बोला - मेरे सपने में राम सीता आए बोले तू सुबह खीर खा लेना.


क्षत्रिय बोला - मेरे सपने में राम सीता और लक्ष्मण आए बोले तू सबसे अच्छा है , सुबह तू ही खीर खा लेना.

वैश्य छात्र बोला - मेरे सपने में राम , सीता , लक्ष्मण के साथ हनुमान भी आए थे , गदा लेकर बोले की सुबह तु ही खीर खा लेना ।


अब सभी साथी शूद्र से पूछने लगे , बता तू ने क्या सपना देखा ??

बताता क्यों नहीं??

बता... क्या देखा तूने ???


तब उसने कहा मेरे सपने में बाबा साहब अम्बेडकर रात 2:00 बजे आए और कहने लगे -

"सदियों से सोता आ रहा

है गधे ,अब कितना सोएगा,

अभी उठ और खीर खा ले "


तो मैंने रात के 2:00 बजे ही खीर खा ली।

😄🤣😆😃🤣😄🤣😆🤣😃🤣

Moral:

- जो बाबा साहब को पढ़ेगा उसका कभी शोषण नहीं हो सकता।।।।

जय भीम जय भारत जय संविधान।

⚖🎓👨‍🎓®

  • vipin verma
    Gaurav Singh

    About

    Welcome to the Ambedkar Saheb Media Group! 😀 Let's celebra...

    bottom of page